नईदिल्ली. एमसीडी चुनाव को लेकर चल रही गहमागहमी के बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ईवीएम में गड़बड़ी किए जाने के आरोप को एक बार फिर दोहराया. हमला बोलते हुए उन्होंने कहा ‘चुनाव आयोग धृतराष्ट्र बन गया है जो अपने बेटे दुर्योधन को साम दाम दंड भेद कर के सत्ता तक पहुंचाना चाहता है.’ आयोग किसी भी कीमत पर बीजेपी को जिताना चाहता है.

उन्होंने यह भी कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, पर उनकी जांच न करवा कर चुनाव आयोग आशंकाओं को जन्म दे रहा है. वहीं दूसरी ओर केजरीवाल लगातार ईवीएम का मुद्दा उठा रहे हैं, जबकि चुनाव आयोग ने जवाब में साफ कह दिया है कि ईवीएम में गड़बड़ी संभव नहीं है.

मीडिया रिपोर्टो के अनुसार उन्होंने कहा की, ‘कल पूरे देश में उपचुनाव हुए. धौलपुर में 18 मशीनों में गड़बड़ी पाई गई. माना जा रहा है कि ईवीएम की प्रोग्रामिंग में छेड़छाड़ हुई है. उनका कोड बदला गया है. यह किसने बदला, कब बदला और क्यों बदला गया? अब शक हो रहा है कि चुनाव आयोग जांच क्यों नहीं करवा रहा?’

इस दौरान उन्होंने कहा कि विधानसभा में करीब 200 बूथ होते हैं. इनमे 18 EVM खराब हैं, तो 10 प्रतिशत गड़बड़ है. वहीं भिंड की मशीन पर चुनाव आयोग ने क्लीन चिट दे दी. इसकी जांच क्यों नहीं कराई जा रही. अब बटन किसी का भी दबाओ तो वोट बीजेपी को ही मिल रहा है. VVPAT मशीनें नहीं होंगी तो गड़बड़ी फैलेगी.’

एमसीडी चुनाव के लिए राजस्थान से मशीनें लाए जाने पर भी सीएम केजरीवाल ने सवाल उठाए है. इसपर उन्होंने कहा कि, ‘2006 से पहले की मशीन से चुनाव आयोग वोटिंग करवाने जा रहा है. राजस्थान की सारी मशीनें गड़बड़ है.’ वहीं दिल्ली में 15 हजार मशीनें उपलब्ध हैं. 2006 से 2013 तक की मशीनों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा, बहाने बनाकर 2006 से पहले की मशीन का इस्तेमाल हो रहा है. कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा की इससे तो अच्छा है कि बीजेपी की जीत घोषित कर दी जाये.

दूसरी ओर चुनाव आयोग को चुनौती देते हुए कहा कि चुनाव चुनाव आयोग ऐसी खराब की गई मशीन को हमे सौंपे हम साबित करेंगे कि इन मशीनों में छेड़छाड़ी की गई है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY